Filed under हिन्दी लेख

महिला दिन या महिला रात ?

  कल महिलाओं का खास दिन था तो मोदी ने महिलाओं को चाय पिलाई । हम कडवी दवाई पिलाते हैं । पहले तो देश में महिला के विरुध्ध होते गुनाह देखो । २००१ और २०११ बीच के १० साल के डेटा है । सब से बदमाश जनता जीन राज्य में रहती है उस टोपटेन १० … Continue reading

दे ताली !!

आदमी की सेक्स की गरबडी (डिजोर्डर) जीनेटिक बिमारी है, अकस्मात कुदरत भूल कर देती है । आबादी के बढने के साथ सेक्स दिजोर्डरवाले लोगों की भी आबादी बढ रही है लेकिन परसन्टेज भी बढ रहे हैं । कुदरत के कारण ऐसे लोगों की  जीतनी आबादी बढनी चाहिए उस से कई गुनी आबादी दानव कुल की … Continue reading

स्ट्रेस बॉल

ये कोइ लेख नही, दैनिक भास्कार का ऍड्नूमा समाचार है और मेरे कोमेन्ट है । कई बार जब हम तनाव में होते है तो हमारे हाथ में कभी ऐसी चीज लग जाती है, जिससे हमारा तनाव कम हो जाता है। ऐसी चीजों को स्ट्रेस बॉल कहा जाता है। भले ही आपको यह जानकर आश्चर्य हो, … Continue reading

गिनीपिग

आप कभी बिमार पडे और डॉक्टर की केबिन में बैठे हैं तब कोइ ब्ल्यु शर्ट और टाई पहना हुआ आदमी आता है और लाईन तोडते हुए डॉक्टर की केबिन में घुस जाता है । आप को गुस्सा आता है । आप सोचते हो उस दावाई की कंपनी के सेल्समेन ने आप का समय खराब किया … Continue reading

रुपया गीरा या जनता का नसीब ?

कोइ मानेगा एक आदमी की पगार इतने डोलर हो सकती है, किलो के हिराब से ? या कोइ बच्चा बिना लूटने के डर से ५ किलो डोलर ले के दुकान से बिस्किट खरीद ने जा सकता है । या दुकानदार का मजदूर सारे आम डोलर का बोजा उठाये बेन्क के गोडाउन में डालने के लिए … Continue reading

धार्मिक आक्रमण

हमारे यहां कुछ हिन्दु संप्रदाय ऐसे निकले हैं जो आदमी को स्वार्थी, पलायनवादी, भाग्यवादी, और जीसने कभी देखी नही है उस जगह मर के जाने की प्रेरणा देते रहते हैं । ये सब इसलिये की अपने कुटुंब का मोह छोडो और काम धन्धा छोड के ध्यान में बैठ जाओ अपना परलोक सुधारने के लिए । … Continue reading

कीटनाशक

आप को कभी आश्चर्य हुआ कि कोका कोला वास्तव में क्या है ? नही ? कोइ बात नही, स्टेप बाय स्टेप समजीये हो जायेगा आश्चर्य । पीने के 10 मिनट के बाद ः कोला की एक गिलास में रही चीनी के दस चम्मच, शरीर के चयापचय की क्रिया के अवरोध से उल्टि का कारण बनता … Continue reading

वीरप्पन

दुसरे महायुध्ध के बाद तुरंत ही शुरु हुआ तिसरा महायुध्ध भारत में भी चल रहा है । ये तिसरा महायुध्ध बहुमुखी युध्ध है, कहीं सिधे हथियार से कहीं गेरिला युध्ध, कहीं कानून से कहीं खूद नागरिकों को भागीदार बना के । ये युध्ध है दानव समाजी विश्व के धन माफिया और दुनिया के आम नागरिकों … Continue reading

सेक्स से मानब भक्षण तक

जैसे जैसे अर्थव्यवस्था विकसती गई धन्नासेठ धनपति ( इल्ल्युमिनिटी ) मानजात को कंट्रोल करने लगे । उनका सपना पूरी दुनिया पर राज करने का था आज लगभग पूरा होने के करीब है । पूरा और ओफिसियल राज अपने हाथमें तभी ले सकते हैं जब पूरी दुनिया की जनता एक अबोध जानवर बन जाये और आबादी … Continue reading

शेइम शेइम, कुछ तो शरम करो !

जब बच्चे चड्डी नही पहनने की जिद करते हैं तो माबाप या बडे भाई बहन “शेइम शेइम” बोलते हैं तो बच्चा चडी पहन लेता है । बच्चों में इतनी तो शरम होती है, बडे शरम छोड रहे हैं ।  मानवता के दुश्मनों ने दुनिया में “शैइमलेस सोसाईएटी” बनाने की ठानी हुई है, प्रजा को “शेइम … Continue reading